बैंक ऋण एवं अनुदान पर (10+1) बकरी इकाई का प्रदाय(योजना सभी वर्ग के लिए)

सं.क्र.योजनाविवरण
1.उददेश्यदेशी बकरियों मे नस्ल सुधार लाना।हितग्राहियों की आर्थिक स्थिति मे सुधार लाना।मांस तथा दुग्ध उत्पादन मे वृद्धि करना।
2.योजनासभी वर्ग के भूमिहीन,कृषि मजदूर,सीमान्त एवं लघु कृषकों के लिये।हितग्राही को बकरी पालन का अनुभव हो।योजना प्रदेश के सभी जिलों में संचालित है।
3.हितग्राहीसभी वर्ग के भूमिहीन,कृषि मजदूर,सीमान्त एवं लघु कृषकों के लिये।
4.योजना इकाई लागत
सं.क्र.                            विवरण (10+1) बकरी इकाई 1.देशी स्थानीय नस्ल की बकरी दर 6000/- प्रति बकरी 60000.00
2.1 जमुनापारी /बारबरी/सिरोही /बीटल बकरा 7500.00
3.बीमा राषि 10.35% के दर से 5 वर्ष के लिये 6986.00
4.बकरी आहार 3 माह के लिये 250 ग्राम प्रतिदिन 2970.00
रू 12/- प्रतिकिलो  
योग 77456.00
5.अनुदान प्रति इकाईअनुसूचित जनजाति / अनुसूचित जाति वर्ग के लिए  60  प्रतिशत्  अनुदान रु.46474.00
सामान्य वर्ग के लिये 40 प्रतिशत् अनुदान रु. 30982.00
इकाई लागत का 10 प्रतिशत् हितग्राही अंशदान, शेष बैंक ऋण      
6.चयन प्रक्रियाहितग्राहियों का ग्राम सभा में अनुमोदन। ग्राम सभा से अनुमोदित हितग्राहियों का जनपद पंचायत की सभा में अनुमोदन। जनपद पंचायत के अनुमोदन उपरांत जिले के उप संचालक पशुपालन विभाग अनुमोदित प्रकरण को स्वीकृति हेतु बैंक को प्रेषित कर स्वीकृति प्राप्त करेगें।  
7.संपर्कसंबंधित जिले के निकटतम पशु चिकित्सा अधिकारी/पशु औषधालय के प्रभारी /उपसंचालक पशु चिकित्सा ।