सर्दियों (ठण्ड) में मछलियों की देखभाल

सर्दियों के मौसम में प्रायः तापमान कम हो जाता है। जिसकी वजह से न सिर्फ मछलियों की वृद्धि रूक जाती है बल्कि मृत्युदर की संभावनायें बढ़ जाती हैं। तापमान में कमी होने की वजह से मछलियों में आहार ग्रहण क्षमता न के बराबर या बेहद कम हो जाती है तथा उपापचय क्रिया भी धीमी हो जीती है।
कारण:-
उत्तरी भारत के अधिकांश क्षेत्रों में नवम्बर से फरवरी माह तक मौसम शीत बना रहता है। जिसकी वजह से तालाबों, बाड़ियों व बाँध के पानी का तापमान नीचे चला जाता है तथा रात्रिकाल में तापमान का स्तर बहुत कम हो जाता है और ओस का प्रभाव भी पड़ता है।


तालाब की उपरी सतह 1 से 2 फिट का तापमान ज्यादा कम हो जाता है और आहार दाना ग्रहण नहीं करती जिससे उनकी वृद्धि भी अवरूद्ध हो जाती है।

प्रभाव:-
मछलियाँ हलचल कम करती हैं। जिससे धुलित आॅक्सीजन का स्तर भी कम हो जाता है।
अमोनिया के स्तर में वृद्धि हो जाती है। जिससे पानी की विषाक्ता बढ़ जाती है और मछलियों में रोगों की संभावना बढ़ जाती है।
आहार न लेने की स्थिति में मछलियों की वृद्धि रूक जाती है।

नियंत्रण एवं बचाव:-
हमें नियमित रूप से पानी का तापमान जाँचते रहना चाहिए।
बोरबेल अथवा कुएँ का पानी मोटर की सहायता से मिलाना चाहिए क्योकि भूमिगत जल का तापमान ज्यादा रहता है। जिससे तापमान का संतुलन बना रहता है।
साप्ताहिक रूप से जाल अवश्य चलाना चाहिए ताकि रोगयुक्त मछलियों को पृथक किया जा सके।
धुलित आक्सीजन की मात्रा को संतुलित रखने के लिए उसमें एरियेटर चलाना चाहिए।
तापमान 24 डिग्री सेल्सियस से 30 डिग्री सेल्सियस रखने की समुचित व्यवस्था करें।
तापमान बेहद कम होने की स्थिति में हीटर/गीजर की समुचित व्यवस्था करें।

आहार कब दें:-
मछलियों का आहार तापमान संतुलित होने पर दें। दोपहर का समय सबसे उपयुक्त रहता है। सायंकाल भी आहार दिया जा सकता है।
सर्दियों में तली में बैठने वाला दाना ज्यादा उपयोगी होता है।

रोग एवं उपचार:-
सर्दियों में प्रायः मछलियों में कवक युक्त रोग ग्रसित करते है।
रूई के समान चिन्ह, पंख और पूँछ पर बन जाते है।
अमोनिया बढ़ने की स्थिति में बैक्टीरिया जनित रोग भी बढ़ जाता है।

उपचार:-
Ph को संतुलित रखने के लिए चूने का प्रयोग करें। KMno4 (लाल दवा) 500 ग्राम प्रति हेक्टेयर के हिसाब से प्रयोग करें।
वैज्ञानिक सलाह लें।

मत्स्य विज्ञान महाविद्यालय, अधारताल, जबलपुर
डाॅ. एस.के. महाजन डाॅ. सोना दुबे
9425865767 9302351789